बी.डी.एस. क्या हैं, डेंटिस्ट बनने के लिए क्या करें

क्या आप दन्त चिकित्सक बनना चाहते हैं ? यदि आपका जवाब हाँ है तो यह पोस्ट आपके लिए ही हैं | आज की इस पोस्ट “बी.डी.एस. क्या हैं, डेंटिस्ट बनने के लिए क्या करें” में हम BDS यानि बैचलर ऑफ़ डेंटल साइंस के विषय में चर्चा करेंगे | यहाँ हम जानेंगे कि इस कौर्स को करने के लिए क्या शैक्षणिक योग्यता होना चाहिए, इस कौर्स को कब कर सकते हैं और इसके फायदे इसकी फ़ीस आदि विषयों पर हम चर्चा करेंगे |

बी.डी.एस. क्या हैं, डेंटिस्ट बनने के लिए क्या करें

बी.डी.एस. क्या हैं, डेंटिस्ट बनने के लिए क्या करें

BDS यानि बैचलर ऑफ़ डेंटल साइंस जैसा कि इसके नाम से ही समझ में आता है कि यह कौर्स डेंटिस्ट बनने के लिए है तो यदि आपका भी सपना हैं कि आप भी डॉक्टर बने तो BDS एक best आप्शन है आपके लिए जिसको करने के बाद आप दन्त चिकित्सक बन सकते हैं| आइये जानते हैं क्या है प्रोसेस दन्त चिकित्सक बनने की |  बी.डी.एस. क्या हैं, डेंटिस्ट बनने के लिए क्या करें

BDS क्या होता हैं  | What is BDS in Hindi

बैचलर ऑफ़ डेंटल साइंस [BDS] जो कि एक under graduate program है एवं जिसे आप 12वीं के बाद कर सकते हैं | इस कौर्स को करने के दौरान आप कॉलेज में दांतों से जुड़ी हर तरह की बीमारी एवं उसका इलाज करना सिखाते हैं | कई प्राइवेट कॉलेज में BDS पूरा होने के बाद डेंटल हॉस्पिटल में 1 वर्ष या उससे ज्यादा की intership कराई जाती हैं जिससे आसानी से जॉब मिल सके |

BDS में प्रवेश प्रक्रिया क्या हैं

बैचलर ऑफ़ डेंटल साइंस में एडमिशन लेने के लिए कैंडिडेट्स को प्रवेश परीक्षा जैसे  NEET, AIPMT, COMDK देना होती हैं और समय समय पर स्टेट एवं सेंट्रल गवर्नमेंट या उनके कई डिपार्टमेंट द्वारा प्रति वर्ष संचालित की जाती हैं |

ऊपर बताई गई प्रवेश पर्रिक्षाओं के बाद अधितर यूनिवर्सिटी अपने स्तर पर काउन्सलिंग पूरी करके आवेदकों को select किया जाता हैं |

बैचलर ऑफ़ डेंटल साइंस [BDS] के लिए योग्यता BDS के लिए मिनिमम योग्यता किसी मान्यता प्राप्त संस्था से 12वी 5० प्रतिशत अंको के साथ पास होना एवं १२वीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी एवं इंग्लिश विषय होना चाहिए |

BDS कितने समय का होता हैं?

इस कौर्स की अवधी 3 से 5 वर्ष होती हैं जो कि अलग अलग कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी पर निर्भर करता हैं यह कौर्स Part time भी कर सकते हैं एवं full time भी कर सकते हैं | Part time वाले students किसी डेंटल कॉलेज में जॉब भी कर सकते हैं |

BDS की फ़ीस कितनी होती हैं?

प्राइवेट कॉलेज में BDS की फ़ीस २ से 10 लाख तक होती है | जो अलग अलग क्षेत्र एवं यूनिवर्सिटी के ऊपर निर्भर करता हैं : सही फ़ीस पता करने के लिए आप अपने नजदीकी कॉलेज या अपने क्षेत्र का नाम कमेंट में लिखे ताकि हम आपकी बेहतर मदद कर सकें |

BDS करने के क्या फ़ायदे हैं ?

BDS करने के बाद आपको लाइसेंस मिल जाता है जिससे आप डेंटल क्लिनिक ओपन करने का जिसे आप कुछ वर्ष के एक्स्पेरिंस एक्सपीरियंस के बाद खोल सकते हैं और इस फील्ड में नाम पैसा आदि कमा सकते हैं |

इस कौर्स को करने के बाद आप निम्न पोस्ट पर भी कार्य कर सकते हैं बी.डी.एस. क्या हैं, डेंटिस्ट बनने के लिए क्या करें

  • Dental Surgeon
  • Dental Assistant
  • Oral Pathologist

BDS के बाद सैलरी

अगर आप सफलतापूर्वक BDS कर लेते है तो आप ऊपर बताये गए किसी पोस्ट पर काम कर सकते हैं या फिर खुद का क्लिनिक भी खोल सकते हैं जिसके माध्यम से आप शुरुआत में ही २.5 लाख प्रति वर्ष या इससे ज्यादा भी कमा सकते हैं |

BDS कहाँ से करें

  • Maulana Azad Medical College
  • Seth G.S. Medical College
  • College of Dental Surgery
  • University of Mumbai
  • University of Delhi
  • Shree Guru Gobind Singh Tricentenary University
  • Manipal University
  • Goa University
  • Sumandeep Vidyapeeth University
  • Amrita Institute of Medical Sciences

तो दोस्तों आपको यह पोस्ट “बी.डी.एस. क्या हैं, डेंटिस्ट बनने के लिए क्या करें” कैसी लगी हमे कमेंट के माध्यम से जरुर बताएं एवं पोस्ट पसंद आये तो इसे शेयर करना ना भूलें | इसी तरह की अन्य पोस्ट पढने के लिए आप हमे subscribe कर सकते हैं या हमारा facebook page like कर सकते हैं |