बैचलर ऑफ़ कॉमर्स B.Com क्या होता है, पूरी जानकारी

B.com यानि बैचलर ऑफ़ कॉमर्स जो कि एक स्नातक पाठ्यक्रम (Under graduate program) है,  हमारी इस पोस्ट “बैचलर ऑफ़ कॉमर्स B.Com क्या होता है, पूरी जानकारी” में हम B.com से जुड़े कई सवालों के जवाब जानेंगे जैसे B.com के बाद क्या करें, B.com के बाद नौकरी के अवसर, सैलरी, B.com की फ़ीस आदि |

जैसा कि हमने पिछली पोस्ट BA क्या है में पढ़ा था कि 11th में आर्ट लेने वालों के लिए पहला विकल्प होता है BA, ठीक उसी तरह 11th – 12th में कॉमर्स पढ़ने वाले छात्रों के लिए बी.कॉम पहला विकल्प होता है | B.com भी एक ग्रेजुएट प्रोग्राम है जिसे करने के बाद आप ग्रेजुएट कहलाते हैं |

B.Com kya hota hai

बैचलर ऑफ़ कॉमर्स B.Com क्या होता है, पूरी जानकारी

बैचलर ऑफ़ कॉमर्स B.Com क्या होता है, पूरी जानकारी

B.com में प्रवेश कैसे मिलेगा

यदि आपने सफलतापूर्वक 12th कॉमर्स से पास की है तो आप बी कॉम में एडमिशन लेने के पात्र हैं | सामान्यतः B.com में एडमिशन के लिए कोई प्रवेश परिक्षा आयोजित नहीं की जाती लेकिन अगर आप देश के कुछ जाने माने कॉमर्स कॉलेज में प्रवेश चाहते हैं तो आपको उनके द्वारा आयोजित प्रवेश परिक्षा से होकर गुजरना होगा | इसके साथ ही कुछ यूनिवर्सिटी में आपके 12th के नंबर के आधार पर भी प्रवेश मिलता है |

B.com के subject क्या होते हैं ?

बीकॉम एक accounting based course जिसमे निम्न विषय होते हैं

  • बूकिपिंग
  • इकोनॉमिक्स
  • इंग्लिश
  • मैथ्स
  • बिज़नस लॉ
  • बैंकिंग
  • इनकम टेक्स
  • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी
  • आदि

B.Com करने के फ़ायदे

  • B.com करने के कई सारे फायदे है जिनमे से सबसे बड़ा तो यह कि आप ग्रेजुएट हो जाते है |
  • बी.कॉम एक स्नातक पाठ्यक्रम है जिसे करने के बाद आप उच्च शिक्षा जैसे M.com, MBA, MCA जैसे कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं |
  • आप आसानी से एकाउंटिंग या इस तरह की कोई जॉब प्राप्त कर सकते हैं |
  • प्रतियोगी परीक्षाओं में सम्मिलित हो कर सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं |
  • B.com करने के बाद CA जैसे बड़े प्रोफेशन में जा सकते हैं | (CA बनने के लिए क्या करें)

बी.कॉम करने के बाद क्या करें ?

यह एक बड़ा सवाल है हमसे कई लोग कमेंट के माध्यम से यह सवाल पूछते रहते हैं तो चलिए जानते हैं कि बी कॉम के बाद क्या अवसर हो सकते है |

प्रतियोगी परिक्षा : बीकॉम के बाद आपको ग्रेजुएशन की डिग्री मिल जाती है जिसके माध्यम से आप प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे : एसएससी, बैंकिंग, रेलवे, पोस्ट ऑफिस आदि की तयारी करके Government job (सरकारी नौकरी) पा सकते हैं |

उच्च शिक्षा : बीकॉम के बाद आप M.com, MBA जैसे कोर्स करके अपने करियर को नई दिशा दे सकते हैं, इन कोर्स को करने के बाद आपको जॉब के लिए ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ेगा |

जॉब : बीकॉम के बाद आप प्राइवेट जॉब जैसे मार्केटिंग, एकाउंटिंग, ऑफिस असिस्टेंट आदि ऐसी कई सारी जॉब प्रोफाइल है जिसे आप पाने के लिए आप naukri.com या monastar.com जैसे वेबसाइट पर अपना resume upload करके प्राप्त कर सकते हैं |

बीकॉम से जुड़ी अन्य जानकारी

  • यह 3 वर्षीय पाठ्यक्रम होता है |
  • बीकॉम प्लान, बीकॉम टेक्स, बीकॉम कंप्यूटर एप्लीकेशन, बीकॉम ओनर्स भी आप्शन होते हैं |
  • B.com करने के लिए आपको अकाउंट का बेसिक नॉलेज होना जरुरी हैं
  • आप इसे रेगुलर या प्राइवेट दोनों तरह से कर सकते हैं |
  • इस कोर्स की फ़ीस तक़रीबन 15 हजार प्रति वर्ष से शुरू होती हैं |

हमे उम्मीद है कि आपको बीकॉम से जुड़ी हमारी यह पोस्ट “बैचलर ऑफ़ कॉमर्स B.Com क्या होता है, पूरी जानकारी” भी हमारी अन्य पोस्ट की तरह पसंद आएगी. | और  नई पोस्ट पड़ने के लिए आप हमे subscribe कर सकते है या हमारा facebook page like कर सकते हैं| कुछ अन्य जानकारी के लिए कमेंट करना ना भूलें |