आपदा प्रबंधन (Disaster management) में करियर कैसे बनाएँ

नमस्कार दोस्तों!  careerinhindi.com में आपका स्वागत है। हमारे आज के इस पोस्ट “आपदा प्रबंधन (Disaster management) में करियर कैसे बनाएँ” के जरिये हम आपको बतायेंगे कि आपदा प्रबंधन क्या है और इस पेशे में आप अपना करियर कैसे बना सकते है । दोस्तों, अगर आप आपदा प्रबंधन जैसे क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो इस पोस्ट में बताई गयी हर जानकारी आपके लिए बेहद ही महत्वपूर्ण है इसे ध्यान से अंत  आपज़रूर पढ़े  । आइए आपदा प्रबंधन तथा इसमें करियर की संभावनों के बारें में विस्तार से जानते हैं।

"<yoastmark

आपदा प्रबंधन (Disaster management) क्या है ?

आपदा प्रबंधन, किसी भी आपातकाल की स्तिथि में, चाहे वो प्राकृतिक हो या मानव निर्मित लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करता है। दुनिया भर में मानव संसाधन, महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों को इस क्षेत्र में प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए आपदा प्रबंधन में पाठ्यक्रम प्रदान किए जाते हैं। ये पाठ्यक्रम डिग्री, डिप्लोमा और प्रमाण पत्र सहित विभिन्न स्तरों पर करवाये जाते हैं। भारत भर के कई प्रतिष्ठित कॉलेज और विश्वविद्यालय आपदा प्रबंधन में अनुसंधान कार्यक्रम भी चलाते हैं।

आपदा प्रबंधन (Disaster management) में करियर कैसे बनाएँ

आपदा प्रबंधन किसी आपदा से निपटने में मदद करता है, इसके लिए किसी भी आसन्न आपदा से पहले योजनाओं और रणनीतियों को लागू करने के लिए रणनीतिक बनाने की भी आवश्यकता होती है। ये रणनीतियाँ इन आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान को रोकने या कम करने में मदद करती हैं। तो, आपदा प्रबंधन में में अलग अलग कोर्स आसन्न विफलताओं या विपत्तियों को दूर करने और अपने संगठनात्मक तरीके के साथ ऐसी स्थितियों को प्रभावी ढंग से संभालने में आपको प्रशिक्षित करता है। आपदा प्रबंधन में कैरियर की संभावनाएं और रोजगार के अवसर पर्याप्त हैं। अकसर सरकारी और निजी एजेंसियां ​​और गैर-लाभकारी संगठन इस क्षेत्र में प्रशिक्षित आपदा रक्षकों की तलाश में रहती है।

आपदा प्रबंधन से सम्बंधित कौन से कोर्स है तथा उनके योग्यता क्या हैं ?

आपदा प्रबंधन कई पाठ्यक्रमों में पेश किया जाता है, जिसमें से कुछ इस प्रकार हैं :- एमबीए, एमए,एमएससी, पीएचडी तथा एमफिल भी शामिल है।

  • आपदा प्रबंधन में एमबीए : आपदा प्रबंधन में एमबीए के लिए आपके पास किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से कम से कम 50% अंकों समकक्ष संचयी ग्रेड अंक औसत (सीजीपीए) के साथ स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।
  • आपदा प्रबंधन में एमए :  आपदा प्रबंधन में एमए करने के लिए आपके पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। इसके अलावा, कई कॉलेज आपदा प्रबंधन पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए अपनी प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं। प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद, आपको साक्षात्कार से गुजरना होगा।
  • आपदा प्रबंधन में एमएससी: आपदा प्रबंधन में एमएससी करने के लिए आपके पास  55% अंकों के साथ भूगोल / भूविज्ञान / पर्यावरण विज्ञान / सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री होना आवश्यक है।
  • आपदा प्रबंधन में पीएचडी: आपदा प्रबंधन में पीएचडी किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से 55 % के साथ संबंधित क्षेत्र में मास्टर डिग्री या एमफिल होना आवश्यक है।

आपदा प्रबंधन में कौन- कौन सी नौकरी है ?

आपदा प्रबंधन किसी भी मुश्किल स्तिथि से निपटने में मदद करता है, इसके लिए किसी भी आने वाली विकट परिस्थिति (मानव निर्मित हो या  प्राकृतिक) से पहले योजनाओं और रणनीतियों को लागू करने के की जरुरत होती है। ये योजना इन मुश्किल वक़्त के कारण होने वाले नुकसान को रोकने या कम करने में मदद करती हैं। तो, आपदा प्रबंधन में में अलग अलग कोर्स अचानक आने वाले विपत्तियों को दूर करने और योजनावद्ध तरीके के साथ ऐसी स्थितियों को संभालने में आपको प्रशिक्षित करता है। आपदा प्रबंधन में कैरियर की संभावनाएं और रोजगार के अवसर पर्याप्त हैं। अकसर सरकारी और निजी एजेंसियां और गैर-लाभकारी संगठन इस क्षेत्र में प्रशिक्षित लोगों की तलाश में रहती है।

आपदा प्रबंधकों को कितना वेतन मिलता है?

एक आपदा प्रबंधक के तौर पर आपको राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा औसत वार्षिक वेतन 5.5 लाख रुपये दिया जाता है।

हमें उम्मीद है कि इस पोस्ट “आपदा प्रबंधन (Disaster management) में करियर कैसे बनाएँ” के जरिये आपके आपदा प्रबंधक बनने के नेक ख्वाब को एक नई दिशा और उचित मार्ग मिलेगा। इसी तरह की अन्य करियर संबंधित जानकारी पढ़ने के लिए  हमें  सोशल  मीडिया पर फ़ॉलो करें  Facebook – Youtube इस पोस्ट से जुड़ी किसी भी अन्य जानकारी के लिए आप हमसे कमेंट के माध्यम से संपर्क कर सकते है । धन्यवाद !