Hospital Management में करियर कैसे बनाएँ

हेल्लो दोस्तों! careerinhindi.com में आपका स्वागत है। अगर आप अस्पताल प्रबंधन में अपना करियर बनाना चाहते है तो ये पोस्ट “Hospital Management में करियर कैसे बनाएँ” आपके लिए बेहद ही महत्वपूर्ण है। हमारे आज के इस पोस्ट के जरिये हम आपको बतायेंगे कि आप अस्पताल प्रबंधन (Hospital Management) में कैसे अपना करियर कैसे बना सकते है। दोस्तों, अस्पताल प्रबंधन स्वास्थ्य के क्षेत्र में सबसे महत्वपूर्ण और आकर्षक कैरियर में से एक है। पूरी जानकारी के लिए पोस्ट को अंत तक अवश्य पढ़े।

Hospital Management में करियर कैसे बनाएँ

Hospital Management में करियर कैसे बनाएँ
Hospital Management में करियर कैसे बनाएँ

अस्पताल प्रबंधन (Hospital Management) क्या है ?

अस्पताल प्रबंधन स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं के वितरण के लिए प्रबंधन कौशल प्रदान करता है”। अस्पताल प्रबंधन को अस्पतालों के प्रबंधन या प्रशासन के रूप में जाना जाता है। अस्पताल प्रबंधन स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं और उन सेवाओं की आपूर्ति करने वालों के बीच सीधा संबंध प्रदान करता है जिनकी उन्हें आवश्यकता होती है। अस्पताल प्रबंधन कैरियर में अस्पताल के संसाधनों का प्रभावी उपयोग सुनिश्चित करता है। अस्पताल प्रबंधक और प्रशासक अस्पतालों और चिकित्सा सुविधाओं के प्रबंधन के लिए आवश्यक हो गए हैं।

Hospital Management में उपलब्ध कोर्स एवं योग्यता

दोस्तों, इस क्षेत्र में यूजी पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश के लिए आपके पास 12 वीं परीक्षा में कम से कम 50% अंक होने चाहिए। यदि आप पीजी स्तर के पाठ्यक्रमों में शामिल होना चाहते हैं, तो आपको किसी भी विषय में अपना स्नातक पूरा करना होगा। यहाँ पात्रता मानदंड संबंधित संस्थान और पाठ्यक्रम के अनुसार अलग हो जाते है। प्रसिद्ध संस्थान जैसे एम्स, एएफएमसी, आदि, वे केवल छात्रों के लिए पीजी कोर्स में प्रवेश देते हैं, जो अपनी एमबीबीएस की डिग्री पूरी करते हैं। अगर आप डॉक्टरेट डिग्री करने के इच्छुक हैं, तो आपके पास मास्टर ऑफ हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री होनी चाहिए।

अस्पताल प्रबंधन (Hospital Management) की पढाई कहाँ होती है ?

भारत में कई ऐसे संस्थान है जो अस्पताल प्रबंधन की पढाई करवाते हैं जैसे –

  • अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली
  • आर्म्ड फोर्सेस मेडिकल कॉलेज (पुणे)
  • देवी अहिल्या विश्व विद्यालय, सिम्बायोसिस सेंटर ऑफ हेल्थ केयर
  • फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्ट्डीज़ (एफएमएस)
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस पिलानी इत्यादि ।

अस्पताल प्रबंधन में कैरियर की क्या संभावनाएं हैं ?

हालाँकि यह चुनौतीपूर्ण, जिम्मेदार और अधिक काम वाला क्षेत्र है किन्तु यहाँ करियर मेंअसीम संभावनाएं है, शायद यही कारण है कि यह अधिक मांग वाला नौकरी कैरियर है। अस्पताल प्रबंधन के क्षेत्र में कैरियर के अवसर तेजी से बढ़ रहे हैं। यह अस्पताल उद्योग के बढ़ते महत्व के कारण नहीं है, बल्कि अस्पतालों में काम की प्रकृति के अंतर के साथ भी है। युवा स्नातकों के लिए, अस्पताल प्रबंधन में नौकरी का अवसर अभूतपूर्व है। आप सहायक अस्पताल प्रशासक या प्रबंधक के रूप में अपना करियर शुरू कर सकते हैं। आप आउट पेशेंट क्लीनिक, अस्पतालों, धर्मशालाओं और नशीली दवाओं के दुरुपयोग उपचार केंद्रों का प्रबंधन करते हैं। इस क्षेत्र में अनुभव प्राप्त करने के बाद, आपको सीईओ के पद पर पदोन्नत किया जा सकता है। आप अपना नर्सिंग होम या अस्पताल भी स्थापित कर सकते हैं। यदि आप शिक्षा क्षेत्र में रुचि रखते हैं, तो आप महाविद्यालयों में शिक्षक और व्याख्याता के रूप में काम कर सकते हैं।

अस्पताल प्रबंधक बनने के लिए किन कौशल की आवश्यकता होती है ?

एक कुशल अस्पताल प्रबंधक बनने के लिए आपके पास वित्त और सूचना प्रणाली का अच्छा ज्ञान, बेहतरीन नेतृत्व कौशल, अच्छा संचार और आयोजन कौशल, मिलनसार व्यक्तित्व, समय सीमा को संभालने की क्षमता, त्वरित निर्णय लेने की क्षमता, धीरज, उत्कृष्ट मौखिक और लिखित संचार कौशल आदि होना अति आवश्यक है।

अस्पताल प्रबंधक की औसत सैलरी कितनी होती है ?

एक अस्पताल प्रबंधक की औसत मासिक सैलरी 30,000- 40,000 तक होती है।

हमें उम्मीद है कि इस पोस्ट के जरिये आप अस्पताल प्रबंधन के क्षेत्र में करियर बनाने में मदद मिलेगी। इसी तरह की अन्य करियर संबंधित जानकारी पढ़ने के लिए  हमें  सोशल  मीडिया पर फ़ॉलो करें  Facebook – Youtube इस पोस्ट से जुड़ी किसी भी अन्य जानकारी के लिए आप हमसे कमेंट के माध्यम से संपर्क कर सकते है। धन्यवाद !