ज्योतिष विज्ञान में करियर कैसे बनाएं ?

नमस्कार दोस्तों!  careerinhindi.com में आपका स्वागत है। हमारे आज के इस पोस्ट “ज्योतिष विज्ञान में करियर कैसे बनाएं ?” के जरिये हम आपको बतायेंगे कि आप ज्योतिष विज्ञान में कैसे अपना करियर बना सकते हैं। अगर आपको गणित में रुझान है और आप इसमें बेहतर हैं तो इस क्षेत्र में आप अपने सुनहरे भविष्य का सपना बेहद ही आसानी से बुन सकते है। तो आयिए ज्योतिष विज्ञान के बारे में के बारे में विस्तार से जानते हैं।

ज्योतिष विज्ञान में करियर कैसे बनाएं ?

ज्योतिष विज्ञान में करियर कैसे बनाएं ?
ज्योतिष विज्ञान में करियर कैसे बनाएं ?

ज्योतिष विज्ञान क्या है ?

ज्योतिष विज्ञान, विज्ञान की वो इकाई है जहाँ ग्रहों, सूर्य और चंद्रमा की स्थिति की व्याख्या करके भविष्य की गतिविधियों का पता लगाया जा सकता है। यदि आप आकाश में सितारों, नक्षत्रों, चंद्रमाओं और अन्य खगोलीय पिंडों से मोहित हैं और ग्रह पृथ्वी पर होने वाली घटना के साथ अपने रिश्ते को दूर करने में सक्षम हैं, तो यह आपके लिए पेशा है। एक ज्योतिषी इंसानों के साथ विभिन्न खगोलीय पिंडों के रिश्तों का अध्ययन करता है और अपने भविष्य के जीवन का पूर्वानुमान लगाता है।

ज्योतिषी बनने के लिए न्यूनतम पात्रता क्या है ?

ज्योतिषी पाठ्यक्रम में प्रवेश पाने के लिए आपका  किसी भी स्ट्रीम से 12 वीं में 50% अंकों से पास होना अनिवार्य है। आपकी न्यूनतम उम्र 17 साल होनी चाहिए साथ ही आपको हिन्दी, संस्कृत जैसे विषयों का भी ज्ञान होना अनिवार्य है ।

ज्योतिषी के लिए पाठ्यक्रम प्रदान करने वाले संस्थान कौन से हैं ?

ज्योतिषी विज्ञान में कई संस्थान पाठ्यक्रम चलाते हैं जैसे

  • राजस्थान विद्यापीठ विश्वविद्यालय (उदयपुर),
  • भारती इंस्टीट्यूट ऑफ वैदिक ज्योतिष, (नई दिल्ली)
  • वैदिक ज्योतिष (उदयपुर)
  • महात्मा ज्योति राव फूल यूनिवर्सिटी, (जयपुर) इत्यादि ।

ज्योतिषी करियर में क्या संभावनाएँ हैं ?

नवोदित ज्योतिषियों के लिए करियर के रूप में एक बड़ी गुंजाइश है। मनुष्य के व्यस्त जीवन में बेचैनी बढ़ने और कोई अन्य वैकल्पिक विधा न होने के कारण, मनुष्य अपनी समस्याओं को सुधारने या हल करने के लिए शॉर्टकट या आकाशीय हस्तक्षेप का अधिक शिकार हो गया है, जिससे इन पेशेवरों की मांग बरकरार है। इसीलिए ये जिम्मेदारी एक ज्योतिषी की है कि वो ऐसे लोगों की समस्या का समाधान निकाले।

ज्योतिषी बनने के लिए आवश्यक कौशल क्या है ?

एक ज्योतिषी को संकेतों, ग्रहों, घरों, पहलुओं और प्रगति के अर्थ का बुनियादी ज्ञान होना चाहिए। अपने स्वयं के व्यक्तिगत विकास पर काम करने में सक्षम और तैयार होना चाहिए। आपके पास पर्याप्त शैक्षिक पृष्ठभूमि और संचार क्षमता होनी चाहिए।

ज्योतिषी / ज्योतिष वैज्ञानिक कैसे बनें?

दोस्तों, ज्योतिषी बनने के लिए, ज्योतिष विज्ञान में योग्यता होना चाहिए। अगर किसी के पास पहले से ही कॉलेज की डिग्री है, तो यह उसके लिए बेहतर विकल्प है। औपचारिक योग्यता प्राप्त करने के बाद, कोई अपने कैरियर बनाने के लिए योजना बनाएं तथा कुछ वरिष्ठ ज्योतिषियों के साथ अभ्यास करना शुरू कर सकते है। ऐसा करने से आपके पास उपयोगी ऑन-जॉब-अनुभव हो जायेगा जो भविष्य में आपके करियर के लिए लाभदायक साबित होगा।

ज्योतिषी की क्या जिम्मेदारी होती है ?

एक ज्योतिषी के विभिन्न कार्य होते हैं किन्तु उनकी मुख्य जिम्मेदारी होती है कि ग्राहक के दिमाग की वर्तमान स्थिति को पढे और उसके आधार पर उसे सलाह दे। साथ ही अपने ग्राहक की गोपनीयता भी बरकरार रखे। एक ज्योतिषी को चाहिए कि वो ग्रहों के गणित के अनुसार ग्राहक को स्पष्ट रूप से निर्देश, सलाह और अन्य सावधानियां दें।

ज्योतिषी की आमदनी

ज्योतिषियों की वैश्विक मांग और आपूर्ति मांग की तुलना में बहुत कम होने के कारण, ज्योतिषी उनसे पूछे जाने वाले प्रति प्रश्न के लिए भारी शुल्क लेते हैं। यह सब आपकी ज्योतिषी की प्रतिष्ठा और उनकी भविष्यवाणी की सफलता दर पर निर्भर करता है।

हमें उम्मीद है कि इस पोस्ट “ज्योतिष विज्ञान में करियर कैसे बनाएं ?” के जरिये आपको ज्योतिष विज्ञान से जुड़ी करियर संभावनाओं में मदद मिलेगी। इसी तरह की अन्य करियर संबंधित जानकारी पढ़ने के लिए  हमें  सोशल  मीडिया पर फ़ॉलो करें  Facebook – Youtube  इस पोस्ट से जुड़ी किसी भी अन्य जानकारी के लिए आप हमसे कमेंट के माध्यम से संपर्क कर सकते है । धन्यवाद !