मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) कैसे बनें

नमस्कार दोस्तों!  careerinhindi.com में आपका स्वागत है। हमारे आज के इस पोस्ट “मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) कैसे बनें “ के जरिये हम आपको बतायेंगे कि मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव कैसे बना जा सकता है और इसके किये क्या संभव प्रयास किये जा सकते  है।

मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) कैसे बनें

मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) कैसे बनें
मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) कैसे बनें

दोस्तों, मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव यानी MR हेल्थकेयर क्षेत्र का वो अनिवार्य हिस्सा है जो फार्मास्यूटिकल्स, डॉक्टरों के साथ-साथ रोगियों के बीच एक बहुत जरूरी लिंक का निर्माण करता है। ये फार्मा कंपनियों और मेडिकल प्रैक्टिशनर्स के बीच संपर्क स्थापित करते हैं और कई बार ग्राहकों से सीधे संपर्क में भी रहते हैं। चिकित्सा उद्योग में एक सफल मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव होने के लिए चिकित्सा, औषधि, उपकरण का व्यापक ज्ञान होना जरुरी होता है। यदि आप को इस नौकरी में थोड़ी भी दिलचस्पी रखते है तो यह पोस्ट आपको चिकित्सा प्रतिनिधि MR से जुड़ी सभी जानकारी प्रदान कारेगी । कृपया पोस्ट को अंत तक पढ़े ।

मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) के कार्य

चिकित्सा प्रतिनिधि या मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) मुख्य रूप से एक फार्मास्युटिकल सेटअप का एक वो हिस्सा होता है, जिनका काम उनकी कंपनी द्वारा निर्मित दवाओं, दवाओं या संबंधित उपकरणों को बढ़ावा देना और बेचना होता है। इस नौकरी में खुद को फिट करने के लिए, आप के पास Product marketing का ज्ञान होना आवश्यक है। नीचे हमने मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव की कुछ प्रमुख भूमिकाएँ और जिम्मेदारियाँ सूचीबद्ध की हैं ।

  • चिकित्सा पेशेवरों और अस्पताल-आधारित स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ निश्चित अंतराल पर बैठक का आयोजन करना
  • डॉक्टरों, फार्मासिस्टों, नर्सों और अन्य स्वास्थ्य पेशेवरों के लिए नई दवा उत्पादों को पेश करना
  • स्वास्थ्य क्षेत्र में नए आविष्कारों के लिए अनुसंधान करना
  • फार्मास्यूटिकल डोमेन के नवीनतम विकास के बारे में अपडेट रहना
  • स्वास्थ्य पेशेवरों की वैज्ञानिक और साथ ही व्यावसायिक आवश्यकताओं को पूरा करना
  • बिक्री अनुबंध और सौदे पर बातचीत करना
  • व्यापार प्रदर्शनियों और सम्मेलनों का दौरा और संचालन करना
  • सौदों के विस्तृत रिकॉर्ड के साथ-साथ बिक्री प्रदर्शन का निर्माण और समीक्षा करना
  • दूसरों के बीच रिपोर्ट और अन्य संबंधित दस्तावेजों का मसौदा तैयार करना।

ऐसे ही कई चुनोती पूर्ण कार्य होते हैं एक MR के।

मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) बनने के लिए जरुरी कौशल

एक मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) के प्रमुख गुणों और कौशल को समझना भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इनका पालन करना आपको नौकरी के लिए अधिक योग्य बनने में सहायता करेगा। जिनमें से कुछ को नीचे दर्शाया गया है ।

  • बेहतरीन संचार कौशल
  • दवा उद्योग में प्रवृत्तियों और नवाचारों के बारे में जागरूक
  • संगठनात्मक कौशल
  • काम सीखने की उत्सुकता
  • बेहतरीन तरीके से सुनने की कला
  • कंप्यूटर एप्लीकेशन का तकनीकी ज्ञान
  • शानदार नेटवर्किंग कौशल
  • डील्स निगोशिएशन में दक्षता
  • बिक्री रिपोर्ट और प्रदर्शन समीक्षा लिखने का ज्ञान

मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) बनने के जरुरी योग्यता एवं ट्रेनिंग

चिकित्सा प्रतिनिधि बनने के लिए आपका फार्मासिस्ट का कोर्स या जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान में डिग्री हासिल करना अति आवश्यक है। या अगर आपने बायोमेडिकल इंजीनियरिंग की है तो आप मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव बनने के लिए योग्य उम्मीदवार है। मेडिकल साइंस के कुछ प्रमुख पाठ्यक्रम जो आपको मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव बनने में मदद करेंगे वो इस प्रकार हैं

ये कोर्स पूरा करने तथा ट्रेनिंग के उपरान्त आप एक सफल और कुशल मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव बन सकते हैं।

कई व्यावसायिक प्रशिक्षण कार्यक्रम हैं जो दवा कंपनियों द्वारा आयोजित किए जाते हैं जहाँ कुछ स्थापित संस्थानों द्वारा मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव को आवश्यक खरीद-बिक्री की ट्रेनिंग दी  जाती है। इन दवा बिक्री प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों की पेशकश करने वाले कुछ प्रमुख भारतीय संस्थान भी हैं जैसे, भारतीय प्रतिनिधि संस्थान (IIMR), मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (MRTI), DIMR, अन्य शामिल हैं। दूसरी ओर, यदि आप इस क्षेत्र का अध्ययन विदेश में करने की योजना बना रहे हैं, तो आप फार्मा सेल्स एंड मैनेजमेंट, एमबीए इन फार्मास्युटिकल मैनेजमेंट आदि पाठ्यक्रम के साथ आगे बढ़ सकते हैं।

मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) का वेतन

आम तौर पर एक MR का वेतन उसेक कार्य क्षेत्र पर निर्भर करत हैं जो तक़रीबन शुरुआत में 15-18 हज़ार प्रति माह होता हैं एवं अनुभव के साथ साथ बड़कर ये 1 लाख प्रति माह तक हो सकता हैं। सिर्फ़ वेतन ही नहीं कई कम्पनी अपने MR को वेतन के अतिरिक्त कमिशन भी प्रदान करती है जो उनके वेतन से भी ज़्यादा हो सकता है।

मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) के लिए लाइसेंस और प्रमाणपत्र

दुनिया भर में कई मान्यता मेडिकल परिषद उभरते चिकित्सा प्रतिनिधियों को प्रासंगिक प्रमाणपत्र तथा लाइसेंस प्रदान करती हैं। भारत में, IIMR या MRTI जैसे संस्थानों से प्रशिक्षण प्राप्त करना आपको इस नौकरी की भूमिका के योग्य होने के लिए आवश्यक योग्यता प्रदान कर सकता है।

हमें उम्मीद है कि इस पोस्ट के जरिये आपके मन में जो मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव बनने के लिए सवाल थे उन सभी का जवाब आपको मिल गया होगा। इसी तरह की अन्य करियर संबंधित जानकारी पढ़ने के लिए  हमें  सोशल  मीडिया पर फ़ॉलो करें  Facebook – Youtube इस पोस्ट से जुड़ी किसी भी अन्य जानकारी के लिए आप हमसे कमेंट के माध्यम से संपर्क कर सकते है । धन्यवाद !