पी.एच.डी (Ph.D) क्या है, पूरी जानकारी

पी.एच.डी (Ph.D) क्या है, पूरी जानकारी

Hello friends, welcome to Careerinhindi.com आज की इस पोस्ट “पी.एच.डी (Ph.D) क्या है, पूरी जानकारी” में आप Ph.D के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे | तो चलिए जानते हैं पी.एच.डी (Ph.D) क्या है और आप कैसे कर सकते हैं Ph.D

पी.एच.डी (Ph.D) क्या है, पूरी जानकारी
पी.एच.डी (Ph.D) क्या है, पूरी जानकारी

(Ph.D) क्या है, पी.एच.डी. का फुल फॉर्म

Ph.D का फुलफॉर्म होता हैं Doctorate of Physiotherapy (डॉक्ट्रेट ऑफ़ फिलॉसॉपी) . इसे करने के बाद डॉक्टरेट की उपाधि मिलती है | यह एक बहुत ही हायर एजुकेशन है इसे करने के लिए पहले स्नातकोत्तर यानि पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री पूरी करना होती हैं | यह किसी एक विषय में होती हैं | जो Ph.D करता हैं और जिस Subject में करता हैं व उस विषय का ज्ञाता होता हैं | यह कोर्स करने के दौरान चुने गए विषय का एकदम गहराई से अध्यन एवं कुछ खोज भी करना होती हैं |

पी.एच.डी. (Ph.D) करने के लिए क्या करें?

जैसा कि मैंने आपको बताया कि Ph.D एक बहुत ही हायर एजुकेशन में आता हैं तो यदि आप इस कोर्स को करना चाहते हैं तो आपको निम्न शैक्षणिक योग्यता को पूरा करना होगा |

  • स्नातक / Graduation : 11th – 12th के बाद आपको अपना ग्रेजुएशन अच्छे नंबरों से पास करना होता हैं जिससे आपको आने वाले कोर्स और पीएचडी  प्रवेश के लिए फायदा हो |
  • स्नातकोत्तर / Post Graduation : ग्रेजुएशन के बाद आपको पोस्ट ग्रेजुएशन यानि मास्टर डिग्री हसील करना होता हैं  जो 2 वर्ष की होती है और आप उसे ग्रेजुएशन के बाद कर सकते हैं | आप पीएचडी उसी विषय में कर पाएंगे जिसमे आप पोस्ट ग्रेजुएशन करेंगे, तो इस बाद का ध्यान रखें एवं अपने विषय का चयन बड़ा सोच समझकर करें |
  • नेट / NET : पीएचडी करने के लिए आपको UGC द्वारा आयोजित NET परीक्षा भी देना होगी सामान्यतः जो कॉलेज में प्रोफेसर बनने के लिए देना होती हैं |
  • प्रवेश परीक्षा / entrance exam : पीएचडी करने के लिए NET देने के बाद आपको पीएचडी में प्रवेश लेने के लिए entrance exam भी देना होती हैं जो कई सारी यूनिवर्सिटी स्वयं ही संचालित करती हैं | इनकी जानकारी आपको अख़बार या सम्बंधित यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर मिल जाएगी |

पी.एच.डी. (Ph.D) करने के फायदे ?

वैसे देखा जाये तो कोई भी कोर्स ऐसा नहीं है जिसके करने से कोई फायदा ना हो | हर एक कोर्स की अपनी खासियत होती है और हर एक कोर्स एक अलग फील्ड में करियर बनाने के लिए होता है | पीएचडी एक ऐसा कोर्स है जिसके  कई फायदे हैं जो इस प्रकार हैं…

  1. डॉक्टरेट की उपाधि : पीएचडी करके बाद आपको डॉक्टरेट की उपाधी दी जाती हैं | यह किसी विषय में आपके अध्यन एवं खोज के लिए आपको दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान होता हैं | आप पीएचडी करने के बाद अपने नाम के आगे डॉ / Dr. लगा सकते हैं |
  2. अच्छी जॉब : अगर आप पीएचडी करते हैं और जिस विषय में करते है उससे सम्बंधित सरकारी एवं गैर सरकारी विभाग में आपको अच्छे पद पर नौकरी मिल जाती हैं |
  3. कॉलेज में प्रोफेसर : पीएचडी करने के बाद आपको सरकारी या निजी कॉलेजों में प्रोफेसर या उससे भी बड़े पद जैसे उप प्राचार्य, प्राचार्य के पद पर कार्य करने का मौका मिलता हैं |

हमारी यह पोस्ट पड़ना ना भूलें

पी.एच.डी. से जुड़े कुछ अन्य सवाल

पी.एच.डी. (Ph.D) कितने समय का होता है ?

अगर केवल पीएचडी की बात करें तो 2 से 3 वर्ष लगते हैं, लेकिन Phd करने के पहले 3 वर्ष का graduation एवं उसके बाद 2 वर्ष का पोस्ट ग्रेजुएशन करना जरुरी होता हैं | टोटल 12th के बाद आपको पीएचडी करने में 8 वर्ष तक या उससे भी ज्यादा समय लग सकता हैं |

पी.एच.डी. (Ph.D) की फीस कितनी होती हैं ?

यह निर्भर करता हैं आपके आपके द्वारा चुने गए विषय, आपके रिसर्च एवं यूनिवर्सिटी जहाँ से आप पीएचडी करना चाहते हैं उस पर | सामान्यतः केवल पीएचडी का खर्च लगभग 2 लाख तक या उससे भी ज्यादा हो सकता हैं |

पी.एच.डी. (Ph.D) कहाँ से कर सकते हैं ?

आप किसी यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर सकते हैं इसके लिए आपको नजदीकी यूनिवर्सिटी में जाकर पता करना होता या आप ऑनलाइन सम्बंधित यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर जाकर भी पता कर सकते हैं |

पी.एच.डी. (Ph.D) के लिए शैक्षणिक योग्यता ?

ग्रेजुएशन एवं पोस्ट ग्रेजुएशन में आपको 60 प्रतिशत नंबर आवश्यक हैं हालाँकि इसमें छूट का भी प्रावधान हैं | इसके आलावा आपको NET एवं पीएचडी के लिए प्रवेश परीक्षा भी देना होगी |

तो  यह थी पी.एच.डी. (Ph.D) से जुड़ी  कुछ जरुरी जानकारी | हमें उम्मीद हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट “पी.एच.डी (Ph.D) क्या है, पूरी जानकारी” जरूर पसंद आएगी | ऐसी ही अन्य करियर से जुड़ी जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें एवं हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करना ना भूलें | धन्यवाद !

Leave your comment
Comment
Name
Email