स्कूल टीचर कैसे बनें संविदा शिक्षक

क्या आप स्कूल टीचर या शिक्षक बनना चाहते हैं? क्या आप अपना  भविष्य शिक्षा विभाग में बनाना चाहते हैं? यदि हाँ तो आज की हमारी यह पोस्ट “स्कूल टीचर कैसे बनें संविदा शिक्षक” आप ही के लिए हैं| इस पोस्ट में आप टीचर बनने से जुड़ी कई जानकारी प्राप्त करेंगे साथ ही साथ हम बात करेंगे की बी.एड. (बैचलर ऑफ़ एजुकेशन) क्या होता है? यहाँ हम TEC, CTEC आदि परीक्षाओं कीi जानकारी प्राप्त करेंगे | हमें उम्मीद हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट जरुर पसंद आएगी |

टीचर यानि शिक्षक या गुरु ये बात तो आप जानते ही होंगे कि हमारे देश में गुरु को भगवन से भी बड़कर माना जाता है, शयद हम सबने बचपन में कबीरदास जी का ये दोहा जरुर पड़ा होगा | स्कूल टीचर कैसे बनें संविदा शिक्षक

गुरु गोविन्द दोउ खड़े काके लागु पाए , बलिहारी गुरु आपकी गोविन्द दियो बताए |

यानि हम गुरु को भगवन के समतुल्य या उनसे ऊपर भी मानते हैं, गुरु ही हैं जो हमें सही मार्ग पर चलना सिखाता हैं |

स्कूल टीचर कैसे बनें संविदा शिक्षक

स्कूल टीचर कैसे बनें संविदा शिक्षक

चलिए अब हम बात करते हैं कि टीचर कि जॉब के लिए क्या करना पढ़ता हैं| जैसा कि मैं ऊपर बता चूका हूँ टीचर बनना एक अपने आप में बहुत गर्व की बात होती है, एक शिक्षक को जितना सम्मान मिलता हैं उतना शायद ही किसी प्रोफेशन में मिलता हो! आज के समय में शिक्षा का व्यवसायीकरण होता जा रहा है ऐसे में टीचर्स को भी अब पहले कि तरह कम वेतन में समझोता नहीं करना पड़ता, उनका वेतन भी अब बहुत अच्छा हो गया हैं | तो आपमें भी टीचर बनने की चाह हैं और आपको लगता है कि आप भी इस क्षेत्र में आगे बढ़ सकते है तो देर मत कीजिये आज ही अपना लक्ष्य बनाइये और आगे बढिए |

टीचर बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या है ?

टीचर या शिक्षक बनने के लिए आपको कोई विशेष डिग्री लेने की जरुरत नहीं होती है जैसे इंजीनियरिंग के लिए BE या डॉक्टर बनने के लिए MBBS. आप टीचर कभी भी बन सकते हैं बस उसके लिए आपको विषय जो आप पढ़ना चाहते हैं उसकी अच्छी पकड़ होना चाहिए |

आइये जानते हैं अलग अलग क्षेत्र में टीचर बनने के लिए क्या शैक्षणिक योग्यता होना चाहिए |

प्राइमरी स्कूल टीचर : प्राइमरी स्कूल टीचर की जॉब पाने के लिए  आप 10वीं या 12वीं के बाद डिप्लोमा इन एजुकेशन (डी.एड.) कर सकते हैं, जो की 3 वर्ष का होता है और यह डिस्ट्रिक्ट इंस्टिट्यूटऑफ़ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग (डी.आई.ई.टी.)से होता है | डी.एड करने के बादआपको प्राइमरी स्कूल में पढ़ाने के लिए Diploma  मिल जाता हैं |

प्राइवेट स्कूल में पढ़ायें : अगर आप अपनी पढ़ाई पूरी होने के बाद या पढ़ाई के साथ साथ किसी निजी स्कूल में पढ़ाने जाते हैं तो वहां आपको अच्छा खासा अनुभव हो जाता हैं जिसके बाद आप किसी बड़े स्कूल में सिर्फ अपने अनुभव के आदह्र पर जॉब पा सकते हैं | निजी स्कूल में पढ़ाने के कई फायदे भी हैं जो आपको संविदा शिक्षक की जॉब में भी मददगार हो सकते हैं |

हमारी अन्य पोस्ट भी जरुर पढ़ें | स्कूल टीचर कैसे बनें संविदा शिक्षक

बी.एड. क्या हैं पूरी जानकारी,

बी.एड. यानि बैचलर ऑफ़ एजुकेशन यह के डिग्री कौर्स है जो कि ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता है| यह 1 वर्ष का होता है जिसे आप किसी भी विषय में ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद कर सकते हैं | बी.एड. करने के बाद आपको सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी स्कूल में टीचिंग करने का मौका मिल जाता है | अगर आप संविदा शिक्षक बनना  चाहते हैं तो आपको बी.एड करना जरुरी हो जाता हैं| आपको बी.एड. के लिए प्रवेश परिक्षा भी देना होती है जैसे TET (teacher eligibility test) जो कि state wise होती हैं | आप इसके आलावा CTET भी दे सकते हैं जो कि सीबीएसई स्कूल में पढ़ाने के लिए दे सकते हैं |

तो देखा आपने कि स्कूल में पढ़ाने के लिए किस तरह तैयारियां करना पड़ती है| हमने यहाँ डी.एड, बी.एड दोनों की जानकारी प्राप्त की जो कि स्कूल टीचर बनने या संविदा शिक्षक बनने के लिए बहुत जरुरी हैं | आज की हमारी इस पोस्ट “स्कूल टीचर कैसे बनें संविदा शिक्षक”  में बस इतना हीमरी अगली पोस्ट में संविदा शिक्षक भर्ती एवं कॉलेज में पढ़ाने के लिए क्या करें ? इन विषयों पर चर्चा करेंगे तब तक आप हमारी अन्य पोस्ट पड़ते रहें | आप हमसे facebook या google के माध्यम से भी जुड़ सकते हैं या हमारी वेबसाइट पर मुफ्त account बना सकते हैं ताकि हम हमारी नई पोस्ट आपके ईमेल पर भेजते रहें |