मेडिकल क्षेत्र के 10 प्रमुख (Most Demanding) कोर्स

नमस्कार दोस्तों! careerinhindi.com में आपका स्वागत है। हमारे आज के इस पोस्ट के जरिये आप मेडिकल के क्षेत्र में टॉप 10 करियर विकल्प के बारे में जानेगें। अगर आप 12वीं (साइंस में बायोलॉजी) स्ट्रीम से पास हैं तो मेडिकल क्षेत्र में ऐसे कई कोर्स हैं जो आपके सुनहरे भविष्य का सपना बुनने में आपकी मदद कर सकते है। तो चलिए जानते हैं वे कौनसे कोर्स हैं जो आप कर सकते है ।

मेडिकल क्षेत्र के 10 प्रमुख (Most Demanding) कोर्स

मेडिकल क्षेत्र के 10 प्रमुख (Most Demanding) कोर्स
मेडिकल क्षेत्र के 10 प्रमुख (Most Demanding) कोर्स

अगर आप मेडिकल क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं तो आपको 10th के बाद फ़िज़िक्स, केमिस्ट्री एवं बायलॉजी के साथ 12th पास करना अनिवार्य है, इसके बाद आपको सम्बंधित कोर्स से जुड़ी प्रवेश प्रक्रिया आदि से गुजरना पड़ सकता है । चलिए जानते हैं वे कौनसे कोर्स हैं ।

#1 एमबीबीएस (MBBS)

बैचलर एंड बैचलर ओफ़ मेडीसिन  : कक्षा 12 पास करने के बाद यह विज्ञान के उम्मीदवारों के बीच सबसे पसंदीदा पाठ्यक्रमों में से एक है। कोर्स की कुल अवधि 5.5 वर्ष की होती है । पाठ्यक्रम का कुल खर्च 6 लाख से 53 लाख के आसपास रहता है । ज्यादातर संस्थानों में NEET UG प्रवेश परीक्षा के जरिये इस कोर्स में एडमिशन होता है।

यह पोस्ट ज़रूर पढ़ें :   MBBS क्या है डॉक्टर कैसे बने ? 

#2 बीडीएस (BDS)

बैचलर ओफ़ डेंटल सर्जन : अगर आप ऑर्थोडॉन्टिस्ट या प्रोस्थोडॉन्टिस्ट के तौर पर अपना कैरियर बनाने की इच्छा रखते हैं, वे इस पाठ्यक्रम को अपनाते हैं। बीडीएस उन लोगों के लिए एक नींव कोर्स है जो दंत चिकित्सक या दंत सर्जन बनना चाहते हैं। इस कोर्स की अवधी: 4.5 वर्ष  है तथा कोर्स की फ़ीस तक़रीबन  5 लाख से 20 लाख रुपए है ।

#3 बीएचएमएस (BHMS)

बैचलर ऑफ़ होमयोपथिक एंड मेडीसिन सर्जरी :  चूंकि भारत में होम्योपैथिक दवा काफी लोकप्रिय है, इसलिए BHMS कोर्स उन लोगों के लिए  एक अच्छा विकल्प  है जो चिकित्सा क्षेत्र में करियर की तलाश करते हैं। इस कोर्स की अवधि भी साड़े पाँच वर्ष है एवं पढ़ाई का कुल खर्च 4 लाख से 10 लाख के बीच आता है ।

#4 बीएएमएस (BAMS) 

बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी : आयुर्वेद का जन्म भारत में हुआ था और यह एक कारण है कि यहाँ आयुर्वेद काफी लोकप्रिय है और कई चिकित्सा उम्मीदवारों ने विशेष रूप से एएयूयूएसएच और इसके लाभों को बढ़ावा देना शुरू करने के बाद बीएएमएस कोर्स शुरू किया है। जिसकी कोर्स अवधी: 5.5 वर्ष। कोर्स शुल्क 60,000 से 2.5 लाख रु तक होता है ।

#5 डीएचएमएस (DHMS)

डिप्लोमा इन होमयोपेथि एंड सर्जरी : अगर  आप BHMS कोर्स में 5 साल से अधिक समय नहीं लगाना चाहते हैं, उनके लिए DHMS एक अच्छा विकल्प है क्योंकि कोर्स की अवधि अपेक्षाकृत कम है और यह होम्योपैथिक चिकित्सा के क्षेत्र में व्यापक शिक्षा प्रदान करता है। कोर्स अवधी: 4 वर्ष । कोर्स शुल्क 60,000 से 3 लाख रु।

#6 बीयूएमएस (BUMS)

बैचलर ऑफ़ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी :  इस पाठ्यक्रम में ऐसे विषय शामिल हैं जो आपको यूनानी चिकित्सा प्रणाली के बारे में सिखाते हैं जो ग्रीक संस्कृति से उत्पन्न हुई है और एशिया के दक्षिणी भाग में काफी लोकप्रिय है। इस पाठ्यक्रम से स्नातक को हकीम कहा जाता है। कोर्स अवधी: 5.5 वर्ष । कोर्स शुल्क 20,000 से 2 लाख रु।

#7 बी॰वीएससी एंड एएच :

बैचलर ऑफ वेटरनरी साइंस : यदि आप विज्ञान के छात्र हैं और जानवरों के इलाज में मदद करने के लिए आगे बढ़ना चाहते हैं तो B.V.Sc & AH आपके लिए आदर्श पाठ्यक्रम है। इस कोर्स को पास करने के बाद आप एक औपचारिक पशु चिकित्सक के रूप में अभ्यास कर सकते हैं। कोर्स अवधि: 5 वर्ष । कुल कोर्स शुल्क: 1.25 से 5 लाख  तक ।

#8 बी.फ़ार्मा  (B.Pharma)

बैचलर ऑफ़ फ़ार्मसी : जो छात्र फार्मास्युटिकल क्षेत्र में काम करना चाहते हैं या अपने स्वयं के फार्मेसियों को शुरू करना चाहते हैं, उन्हें अलग-अलग रसायनों, औषधीय लवण और लोगों को ठीक करने के लिए उपयोग किए जाने वाले समाधानों को समझने के लिए B.Pharm पाठ्यक्रम आपके लिए बेहद उपयोगी है। कोर्स अवधि: 4.5 वर्ष । कोर्स शुल्क: 5 से 12 लाख तक होती है ।

अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट पढ़े : बी॰ फ़ार्मा  क्या होता है, पूरी जानकारी 

#9 डी.फार्मा (D.Pharma)

डिप्लोमा इन फार्मेसी : अगर आप फार्मेसी में कम समय के पाठ्यक्रमों की तलाश कर रहे हैं तो आप इस पाठ्यक्रम के  साथ आगे बढ़ सकते हैं। यह पाठ्यक्रम छात्रों को सरकारी फार्मेसियों में काम करने और अस्पतालों के मेडिकल डिपार्टमेंट में सहायता करने में सक्षम बनाता है। कोर्से अवधि: 2 वर्ष। कोर्स शुल्क: 30,000 से 2 लाख रु

#10 बीओटी  (BOT)

बैचलर ऑफ़ ऑक्युपेशनल थेरपी : व्यावसायिक थेरेपी उस उपाय से संबंधित है जो शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक मुद्दों के साथ-साथ न्यूरोलॉजिकल विकलांगता सहित विभिन्न बीमारियों और चिकित्सा समस्याओं को रोकता है, ठीक करता है और उनका पुनर्वास करता है। इस कोर्स अवधि साड़े चार वर्ष होती है एवं  4.5 वर्ष 2.25 से 4.5 लाख रु तक फ़ीस  होती है ।

तो यह थे कुछ प्रमुख मेडिकल क्षेत्र के कोर्स इसके अलावा और भी कई कोर्स होते है जिनमें आप करियर बना सकते हैं जो इस प्रकार है ।

  • बैचलर ऑफ रेस्पायरेटरी थेरेपी
  • बैचलर ऑफ साइंस इन कार्डिएक टेक्नोलॉजी
  • बैचलर इन साइकॉलजी
  • बैचलर ऑफ साइंस इन बायोटेक्नोलॉजी
  • बैचलर ऑफ साइंस इन माइक्रोबायोलॉजी
  • बीटेक इन बायोमेडिकल इंजीनियरिंग

आज की इस पोस्ट में फ़िलहाल इतना ही हम जल्द ही कुछ नई जानकारी लेकर आपके लिए आएँगे इसी website पर । आप करियर सम्बन्धी किसी भी सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो हमसे कॉमेंट के माध्यम से सम्पर्क कर सकते हैं या हमें सोशल मीडिया Facebook – Youtube  पर फ़ॉलो कर सकते हैं, हम जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने का प्रयास करेंगे । धन्यवाद !