UGC NET Exam क्या है ? जानिए सम्पूर्ण जानकारी

Hello दोस्तों आपका Careerinhindi.com में स्वागत है, इस पोस्ट में आप जानेंगे “यूजीसी नेट (UGC NET) एग्जाम के बारे में कि इसमें किस प्रकार की योग्यता की आवश्यकता होती है तथा आयु सीमा व पैटर्न क्या होता है । अत: UGC NET की सम्पूर्ण जानकारी संक्षिप्त रूप से प्राप्त करने करने हेतु हमारी इस पोस्ट के साथ अंत तक बने रहें ।

यूजीसी नेट परीक्षा क्या है ?

राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा अथवा UGC NET राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली पात्रता परीक्षा है । विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अर्थात UGC एक वैधानिक संगठन है, जिसकी स्थापना 1956 में भारत सरकार द्वारा की गयी थी।  UGC विश्वविद्यालयीन शिक्षा स्तर के निर्धारण व समन्वय तथा मान्यता प्रदान करने हेतु कार्य करती है ।

UGC का मुख्यालय नई दिल्ली में है, एवं इसके अतिरिक्त UGC के 6 क्षेत्रीय केंद्र क्रमशा: भोपाल, गुवाहाटी, बंगलौर, पुणे, कोलकता तथा हैदराबाद में है। भारत में इस परीक्षा द्वारा पोस्ट ग्रेजुएट छात्रों को विश्वविद्यालीन शिक्षण स्तरीय नौकरी के लिए योग्यता प्राप्त करने तथा पीएचडी हेतु प्रवेश लेने की सुविधा मिलती है। UGC नेट परीक्षा यह प्रमाणित किया जाता है कि उम्मीदवार शिक्षण व्यवसाय एवं अनुसंधान में न्यूनतम मानकों के लिए योग्य हो।

आयु मापदंड

व्याख्याता (लेक्चररशिप) हेतु किसी भी प्रकार की आयु सीमा का प्रावधान नहीं है । जबकि जूनियर रिसर्च फ़ेलोशिप ( जेआरएफ) के लिए सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम आयु 30 वर्ष निर्धारित कर दी गयी है। अन्य वर्ग के अभ्यर्थियों को आरक्षण व्यवस्था द्वारा आयुसीमा में अतिरिक्त छूट दी जाती है।

शैक्षिक योग्यता

सामान्य वर्ग के आवेदकों हेतु किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से 55  प्रतिशत अंकों के साथ स्नाकोत्तर (मास्टर) डिग्री अनिवार्य है, जबकि अन्य वर्ग के आवेदकों हेतु 50 प्रतिशत अंक आवश्यक हैं। तथा यदि आवेदक स्नाकोत्तर में अंतिम वर्ष में है वे भी इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

यूजीसी परीक्षा की अधिसूचना (नोटिफिकेशन)

सामान्यत: UGC नेट परीक्षा प्रतिवर्ष जून तथा दिसम्बर माह में दो बार आयोजित की जाती है। जून माह की परीक्षा हेतु अधिसूचना मार्च के माह में एवं दिसम्बर माह की परीक्षा की अधिसूचना सितम्बर में जरी की जाती है। यूजीसी नेट सम्बन्धी परीक्षा की अधिसूचना व आवेदन हेतु www.ugc.ac.in पर आप विजिट कर सकते हैं ।

परीक्षा पैटर्न

वर्तमान समय में UGC NET परीक्षा में कुल दो प्रश्नपत्र कुल 300 अंक के होते है, दोनों प्रश्नपत्रों की प्रकृति वस्तुनिष्ठ होती है एवं किसी भी प्रकार का ऋणात्मक मूल्यांकन नहीं किया जाता

प्रश्नपत्र 1 :- इस प्रश्नपत्र द्वारा उम्मीदवार की तार्किक, गणितीय क्षमता व सामान्य जागरूकता का आंकलन होता है । यह प्रश्नपत्र 100 अंकों का होता है इसमें 50 प्रश्न होते है, प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होता है ।

प्रश्नपत्र 2 :- यह प्रश्नपत्र उम्मीदवार द्वारा चुने गये सम्बंधित स्नाकोत्तर डिग्री के विषय पर आधारित होता है। आवेदकों द्वारा विषयों की पूरी सूची की जानकारी www.ugc.ac.in पर लॉग इन करके प्राप्त की जा सकती है। इनमें विदेशी भाषा को भी सम्मिलित किया गया है। यह प्रश्नपत्र 200 अंकों का होता है इसमें 100 प्रश्न होते है, प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होता है ।

यूजीसी नेट परीक्षा उतीर्ण के बाद करियर

यूजीसी (UGC) नेट परीक्षा उतीर्ण करने के बाद, आप राष्ट्रीय स्तर के विश्विद्यालयों में लेक्चरर अथवा जूनियर रिसर्च फैलोशिप हेतु योग्य बन जाते है। इसके लिए आपको समय-समय पर रिक्तियों की विज्ञप्ति जारी होने पर आवेदन करना होगा। आपकी अंतिम नियुक्ति सम्बंधित विश्विद्यालय या कॉलेज द्वारा आयोजित साक्षात्कार के प्राप्तांक के आधार पर भी निर्भर करती है ।

प्रिय अभ्यर्थियों उपरोक्त पोस्ट द्वारा आपको UGC नेट से सम्बंधित जानकारी प्रदान करने का प्रयास किया गया है । लेख पसंद आने पर Share जरुर करें तथा अन्य करियर सम्बन्धी जानकारी हेतु आप हमारे फेसबुक पेज को भी Like करे एवं हमारी वेबसाइट पर विजिट करें । धन्यवाद